रणबीर कपूर की जीवनी, Ranbir Kapoor Biograhpy in Hindi, ranbir kapoor hindi quotes, ranbir kapoor biography hind, ranbir kapoor and alia bhatt hindi, ranbir kapoor details in hindi,ranbir kapoor education in hindi, ranbir kapoor wife, ranbir kapoor alia bhatt ranbir kapoor family hindi, ranbir kapoor history hindi, ranbir kapoor life history hindi, ranbir kapoor in hindi, ranbir kapoor wikipedia in hindi,ranbir kapoor status in hindi

रणबीर कपूर की जीवनी Ranbir Kapoor Biograhpy in Hindi

रणबीर कपूर हिन्दी फिल्म जगत के सबसे चर्चित घराने के बेटे हैं. दिग्गज अभिनेता पृथ्वीराज कपूर के पड़पोते, राज कपूर के पोते और ऋषि कपूर के बेटे रणबीर ने अपने खानदान की विरासत को बखूबी आगे बढ़ाया है. अभिनेता के तौर पर रणबीर ने कई हिट फिल्में अब तक दी हैं.

रणबीर कपूर की संक्षिप्त जीवनी
Short Biography of Ranbir Kapoor

जैसा कि कपूर खानदान की परम्परा रही है, अभिनय में हाथ आजमाने से पहले रणबीर ने भी फिल्म मेकिंग और मैथड एक्टिंग का कोर्स किया. उन्होंने न्यूयार्क के ली स्ट्रॉर्सबर्ग थिएटर एंड फिल्म इंस्टीट्यूट से यह कोर्स पूरा किया. भारत आकर रणबीर कपूर ने 2005 में आई फिल्म ब्लैक के दौरान निर्माता निर्देशक संजय लीला भंसाली से फिल्म मेकिंग के गुर सीखे.

इसके दो साल बाद संजय लीला भंसाली ने रणबीर कपूर को अपनी फिल्म सांवरिया के जरिए हिन्दी फिल्म इंडस्ट्री में लांच किया. हालांकि यह फिल्म आलोचकों और आम दर्शकों को पसंद नहीं आई. इसके दो साल बाद 2009 में रणबीर की तीन फिल्में आईं जो अलग-अलग जोनर की थीं. ये फिल्में थीं ट्रेजिक रोमांस फिल्म वेक अप सिड, कॉमेडी अजब प्रेम की गजब कहानी और ड्रामा रॉकेट सिंह: सेल्समैन ऑफ द ईयर. इन तीनों ही फिल्मों में रणबीर के अभिनय की काफी तारीफ हुई थी. इसके बाद 2010 में आई मल्टीस्टारर फिल्म राजनीति में रणबीर कपूर ने उम्दा अभिनय किया, जिसके लिए उन्हें आलोचकों से काफी सराहना मिली.

राजनीति के बाद रणबीर कपूर की एक के बाद एक सफल फिल्में आईं, जिनमें 2011 में आई रॉकस्टार और 2012 में आई बर्फी शामिल हैं. इन दोनों ही फिल्मों में रणबीर का किरदार एकदम जुदा था. रॉकस्टार जहां एक म्यूजिकल रोमांटिक ड्रामा थी, वहीं बर्फी एक कॉमेडी फिल्म. बर्फी में रणबीर ने जिंदादिल मूक बधिर लड़के का किरदार निभाया था. इन दोनों फिल्मों के लिए रणबीर ने लगातार दो फिल्मफेयर बेस्ट एक्टर अवार्ड जीते. साल 2013 में आई रणबीर और दीपिका पादुकोण की रोमांटिक फिल्म ये जवानी है दीवानी ने उस समय के सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए. यह फिल्म सबसे ज्यादा कमाई करने वाली बॉलीवुड फिल्म बनी. इस फिल्म की सफलता के बाद रणबीर कपूर बॉलीवुड के अग्रणी अभिनेताओं में शुमार हो गए.

हालांकि रणबीर कपूर इस सफलता को दोहरा नहीं सके और उनकी कुछ फिल्में बुरी तरह फ्लॉप हो गईं, जिनमें से एक बॉम्बे वेलवेट भी थी. लेकिन, साल 2018 में आई संजय दत्त की बायोपिक संजू से रणबीर का करियर एक बार फिर चमक गया. राजकुमार हीरानी द्वारा निर्देशित इस फिल्म में रणबीर ने संजय दत्त की भूमिका इतनी शिद्दत से निभाई कि खुद संजय दत्त भी उनके कायल हो गए. इस फिल्म ने रिलीज के दिन ही कमाई के सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए. अपने उम्दा अभिनय के लिए रणबीर कई अवार्ड भी जीत चुके हैं, इनमें पांच फिल्मफेयर अवार्ड भी शामिल हैं.

नामरणबीर राज कपूर
जन्म एवं जन्म स्थान28 सितम्बर, 1982, मुम्बई, महाराष्ट्र में
पेशाअभिनेता व फिल्म निर्माता
शिक्षा बॉम्बे स्कॉटिश स्कूल एवं एच.आर. कॉलेज ऑफ कॉमर्स एंड इकोनोमिक्स, मुम्बई

रणबीर कपूर का शुरुआती जीवन
Early Life of Ranbir Kapoor

28 सितम्बर, 1982 को हिन्दी फिल्मों के अभिनेता ऋषि कपूर और अभिनेत्री नीतू सिंह के घर रणबीर कपूर का जन्म हुआ. पृथ्वीराज कपूर के प्रपौत्र और महान अभिनेता व निर्माता निर्देशक राज कपूर के पोते हैं रणबीर. उनसे बड़ी है बहन रिद्धिमा कपूर जो कि पेशे से फैशन डिजाइनर हैं. रणबीर की स्कूलिंग मुम्बई माहिम में स्थित बॉम्बे स्कॉटिश स्कूल में हुई.

हालांकि, बचपन से ही उनका रुझान पढ़ाई में नहीं था, उन्हें पढ़ने से ज्यादा खेलना पसंद था और फुटबॉल के तो रणबीर दीवाने थे. बचपन में उनके माता-पिता के बीच होने वाली लड़ाईयों से वह खासा परेशान हो जाया करते थे. बचपन से ही रणबीर अपनी मां नीतू के बहुत करीब थे और पिता ऋषि से उनके रिश्ते अच्छे नहीं थे.

10वीं की परीक्षा के बाद रणबीर कपूर को पिता ऋषि कपूर की फिल्म आ अब लौट चले में सहायक निर्देशक के तौर पर काम करने का मौका मिला. इस फिल्म के सेट पर काम करते-करते रणबीर अपने पिता के भी बेहद करीब आ गए थे. न्यूयार्क में आर्ट स्कूल में पढ़ाई के दौरान रणबीर ने कुछ शॉर्ट फिल्म भी बनाई. न्यूयॉर्क में अकेले रहकर आर्ट फिल्म स्कूल के अपने अनुभव को रणबीर बेकार मानते हैं.

रणबीर कपूर का फिल्मी करियर
Film Career of Ranbir Kapoor

रणबीर कपूर का कहना है कि न्यूयॉर्क में पढ़ाई के दौरान मैं लगातार बॉलीवुड फिल्मों में काम करने को प्रेरित हुआ. 2005 में रणबीर को निर्माता निर्देशक संजय लीला भंसाली ने फिल्म ब्लैक में बतौर असिस्टेंट काम करने का मौका दिया. इसके बाद भंसाली ने ही रणबीर को हिन्दी फिल्म इंडस्ट्री में फिल्म सांवरिया के जरिए लांच किया.

2007 में रणबीर कपूर की पहली फिल्म सांवरिया रिलीज हुई, जिसमें उनकी हिरोइन सोनम कपूर थीं. यह एक ट्रेजिक लव स्टोरी थी. यह फिल्म दर्शकों को पसंद नहीं आई, लेकिन रणबीर के काम की सबने सराहना की. फिल्म आलोचकों ने रणबीर के बारे में लिखा था कि उनमें स्टार बनने की काबिलियत है. वह अपने खानदान की परंपरा को आगे ले जाने में पूरी तरह सक्षम हैं.

फिल्म सांवरिया के रणबीर कपूर को उस साल फिल्म फेयर का सर्वश्रेष्ठ नवोदित अभिनेता का अवार्ड मिला. इसके बाद,  2008 में यशराज फिल्म के बैनर तले रणबीर ने फिल्म बचना ए हसीनो में काम किया, जो कि उनके करियर की पहली कमर्शियल हिट साबित हुई. इस फिल्म में रणबीर ने एक ऐसे लड़के की भूमिका निभाई थी जो कि अपनी जिंदगी में आई तीन लड़कियों को चोट पहुंचाता है. लड़कियों और महिलाओं को रणबीर का यह अंदाज बेहद पसंद आया और उनका जादू चल निकला.

इसके बाद, 2009 में रणबीर कपूर की तीन फिल्में आईं, जिनमें से वेक अप सिड काफी हिट रही. हालांकि, शुरुआत में इस फिल्म को लेकर आलोचकों को संशय था क्योंकि इसमें एक युवा लड़के और उससे उम्र में काफी बड़ी लड़की के बीच रोमांटिक रिलेशनशिप दिखाई गई थी. लेकिन यह फिल्म काफी हिट रही और आलोचकों ने इसे रणबीर के करियर की बेहतर फिल्म बताया. इसी साल, राजकुमार संतोषी द्वारा निर्देशित फिल्म अजब प्रेम की गजब कहानी भी रिलीज हुई, जिसमें रणबीर के साथ कटरीना कैफ ने काम किया था. यह एक कॉमेडी फिल्म थी जो साल की बड़ी हिट फिल्मों में शुमार हुई.

इसी साल शिमित अमीन की फिल्म रॉकेट सिंह: सेल्समैन ऑफ द ईयर भी रिलीज हुई. फिल्म में रणबीर कपूर के काम की काफी तारीफ हुई, लेकिन फिल्म ज्यादा चल नहीं पाई.

साल 2010 में रणबीर कपूर की मल्टीस्टारर फिल्म राजनीति आई. प्रकाश झा की इस पॉलिटिकल ड्रामा फिल्म में रणबीर के अलावा नाना पाटेकर, अजय देवगन, मनोज बाजपेई और अर्जुन रामपाल जैसे अभिनेताओं ने काम किया था. यह फिल्म महाभारत और 1969 में आए मारियो पुजो के उपन्यास दी गॉडफादर पर आधारित थी. रणबीर कपूर ने इस फिल्म में समर प्रताप की भूमिका निभाई थी जो कि महाभारत के अर्जुन से प्रेरित थी. यह फिल्म हिट रही और रणबीर एक गंभीर अभिनेता के तौर पर और मजबूत हुए.

इसी साल प्रियंका चोपड़ा के साथ आई रणबीर कपूर की फिल्म अंजाना अंजानी बॉक्स ऑफिस पर बुरी तरह से पिट गई. इस लव स्टोरी में रणबीर ने कई बार अपनी शर्ट तक उतारी, लेकिन उनका ये पैंतरा भी फिल्म को बचा नहीं पाया.

रॉकस्टार ने दिलाया स्टारडम

साल 2011 से रणबीर कपूर के करियर का मानो सुनहरा दौर शुरू हो गया. उन्होंने इस साल बाल फिल्म चिल्लर पार्टी में एक आइटम नम्बर से शुरुआत की. इसके बाद उनकी दमदार भूमिका वाली फिल्म रॉकस्टार आई, जिसने उन्हें बेहतरीन अभिनेता के तौर पर स्थापित तो किया ही, साथ ही सुपरस्टार का तमगा भी दिलाया. इस फिल्म में एक गायक के संघर्ष के दौर और उसकी असफल प्रेमकहानी को बखूबी पेश किया गया था. इस फिल्म का संगीत ए.आर. रहमान ने दिया था जो कि बेहद हिट रहा. इस किरदार में ढलने के लिए रणबीर कपूर प्रीतम पुरा में एक जाट परिवार के साथ कुछ दिन तक रहे थे, इसके अलावा उन्होंने ए.आर. रहमान के म्यूजिक स्टूडियो में गिटार बजाने की ट्रेनिंग भी ली थी.

इस फिल्म के प्रमोशन के लिए रणबीर ने मुम्बई में एक लाइव कंसर्ट भी किया था. हालांकि कमर्शियली यह फिल्म उतनी पसंद नहीं की गई, लेकिन क्रिटिक्स ने रणबीर और इस फिल्म को खूब सराहा. इस साल रणबीर को रॉकस्टार फिल्म में उनके अभिनय के लिए बेस्ट एक्टर और बेस्ट एक्टर इन क्रिटिक्स कैटेगरी में फिल्मफे यर अवार्ड से नवाजा गया. रणबीर कपूर ने इस साल सभी अवार्ड शो में अपनी धाक जमाई. रॉकस्टार इस साल की सबसे ज्यादा कमाई करने वाली फिल्म भी बनी.

इसके बाद, 2012 में रणबीर कपूर की फिल्म बर्फी आई. इस फिल्म ने उनकी सफलता के दौर को जारी रखा. अनुराग बासु द्वारा निर्देशित इस फिल्म ने भारत में कमाई के सारे रिकॉड्र्स तोड़ डाले थे. इस फिल्म में रणबीर ने एक मूकबधिर लड़के का किरदार निभाया था. 1970 के दौर की कहानी इस फिल्म में दिखाई गई थी. जहां एक मूकबधिर लड़के को एक लड़की से प्यार हो जाता है जिसकी पहले से ही सगाई हो चुकी होती है. उसके बाद एक ऑटिज्म से पीडि़त लड़की हीरो की जिंदगी में आती है. इस किरदार की तैयारी के लिए रणबीर कपूर ने बेनिगनी, चार्ली चैपलिन और अपने दादा राजकपूर की फिल्मों की क्लिप को देखा और उनकी शैली अपनाने की कोशिश की. यह फिल्म काफी सफल रही और इसमें अभिनय करने वाले रणबीर, प्रियंका चोपड़ा और इलियाना डीक्रूज को काफी सराहना मिली. बर्फी को एकेडमी अवाड्र्स में भी एंट्री मिली, वहीं बुसान इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल जैसे कई अन्य फिल्म फेस्टिवल में फिल्म की स्क्रीनिंग रखी गई. इस फिल्म में अपने अभिनय के लिए रणबीर कपूर लगातार दूसरे साल फिल्मफेयर समेत सभी बड़े अवार्ड जीतने में सफल रहे.

रणबीर कपूर की सफलता का सिलसिला 2013 में भी जारी रहा. इस साल उनकी अयान मुखर्जी द्वारा निर्देशित फिल्म ये जवानी है दीवानी रिलीज हुई. इस फिल्म में रणबीर कपूर के साथ दीपिका पादुकोण, कल्कि कोचलिन, आदित्य रॉय कपूर और फारुख शेख ने भी मुख्य भूमिका निभाई. रणबीर कपूर ने इस फिल्म में बन्नी का किरदार निभाया जो कि जुनूनी फोटोग्राफर है और एक जगह टिक कर नहीं रहना चाहता बल्कि पूरी दुनिया घूमना उसका मकसद है. दीपिका पादुकोण के साथ उनके ब्रेकअप के बाद यह फिल्म आई थी तो पहले से ही काफी पब्लिसिटी हो चुकी थी. इसलिए फिल्म के रिलीज ने ही पूरे देश में धूम मचा दी. यह फिल्म देश की सबसे ज्यादा कमाई करने वाली फिल्म बनी. रणबीर कपूर लगातार तीसरे साल एक बेहतरीन फिल्म देने में सफल रहे. इस फिल्म के लिए भी उन्हें फिल्मफेयर में बेस्ट एक्टर अवार्ड मिला. इसी साल रणबीर की दूसरी फिल्म बेशरम भी आई, लेकिन यह बुरी तरह फ्लॉप रही. इस फिल्म में रणबीर कपूर के साथ उनके माता-पिता नीतू और ऋषि कपूर ने भी काम किया. लेकिन आलोचकों ने इस फिल्म को नकार दिया.

सफलता के लिए करना पड़ा संघर्ष

सुपरस्टार के तौर पर स्थापित होने के बाद दर्शकों की भी रणबीर कपूर से उम्मीदें काफी बढ़ गई थीं, लेकिन शायद वह इसे समझ नहीं पाए और चार साल तक उन्हें एक अदद हिट फिल्म का इंतजार करना पड़ा. वर्ष 2014 में रणबीर कपूर की कोई फिल्म नहीं आई. इसके बाद 2015 में उनकी फिल्म रॉय आई, जिसमें उनका रोल कुछ खास नहीं था. दर्शकों को यह फिल्म पसंद नहीं आई. इसके बाद आई क्राइम ड्रामा बॉम्बे वेलवेट तो और भी बुरी तरह पिट गई.

अनुराग कश्यप द्वारा निर्देशित इस फिल्म को दर्शकों ने पूरी तरह खारिज कर दिया. इस फिल्म में रणबीर के साथ अनुष्का शर्मा और फिल्म निर्माता व निर्देशक करण जौहर ने भी अभिनय किया था.

रॉकस्टार की सफलता से उत्साहित इम्तियाज अली ने फिर से रणबीर कपूर को लेकर फिल्म बनाई. 2015 में रणबीर और दीपिका पादुकोण अभिनीत फिल्म तमाश रिलीज हुई. रणबीर की यह फिल्म भी उतनी सफल नहीं रही. इसे लेकर दर्शकों ने मिलीजुली प्रतिक्रिया दी, हालांकि रणबीर कपूर की अभिनय के लिए तारीफ जरूर हुई. इसके अगले साल रणबीर, अनुष्का शर्मा और ऐश्वर्या राय बच्चन अभिनीत फिल्म ऐ दिल है मुश्किल रिलीज हुई. इस फिल्म के लिए रणबीर कपूर के अभिनय की खूब सराहना हुई. तमाशा और ऐ दिल है मुश्किल में अभिनय के लिए रणबीर कपूर को फिल्म फेयर के बेस्ट एक्टर के लिए मनोनीत किया गया.

साल 2017 में रणबीर ने अनुराग बासु के साथ मिलकर एक प्रोडक्शन कम्पनी शुरू की, जिसका नाम उन्होंने पिक्चर शुरू प्रोडक्शन रखा. इस प्रोडक्शन हाऊस की पहली फिल्म आई जग्गा जासूस. रणबीर और उनकी तथाकथित प्रेमिका कैटरीना कैफ अभिनीत इस फिल्म को दर्शकों का उतना प्यार नहीं मिल सका. हालांकि निर्देशक ने इसमें काफी नए प्रयोग किए थे. 2014 में इस फिल्म पर काम शुरू हो गया था, लेकिन किन्हीं कारणों से यह फिल्म 2017 में रिलीज हो सकी. इसके पीछे मुख्य कारण रणबीर और कैटरीना का ब्रेकअप बताया गया.

असफलता के दौर के बाद रणबीर की फिल्म संजू आई, राजकुमार हीरानी द्वारा निर्देशित यह फिल्म अभिनेता संजय दत्त के जीवन पर आधारित थी. इस फिल्म में रणबीर कपूर ने संजय दत्त की भूमिका निभाई थी. उन्होंने जिस शिद्दत से संजय दत्त का किरदार निभाया, उससे खुद संजय दत्त काफी प्रभावित हुए. इस फिल्म में संजय दत्त के अपने पिता के साथ रिश्ते, ड्रग्स और आम्र्स एक्ट के तहत जेल जाने की पूरी कहानी दिखाई गई. इस फिल्म की तैयारी के लिए रणबीर कपूर ने एक महीने का समय लिया और इस दौरान उन्होंने बखूबी संजय दत्त की तरह चलना और बोलना सीखा जिससे उनका किरदार बिल्कुल असल दिखे.

रणबीर कपूर का निजी जीवन
Personal Life of Ranbir Kapoor

रणबीर कपूर का नाम मीडिया में उनके कॉलेज के दिनों के बाद से अवन्तिका मलिक, फैशन डिजाइनर नंदिता महतानी, प्रियंका चोपड़ा, सोनम कपूर, दीपिका पादुकोण, कैटरीना कैफ और आलिया भट्ट के साथ जोड़ा गया है. चर्चा है कि रणबीर कपूर जल्द ही आलिया भट्ट से शादी भी कर सकती हैं.

रोचक बातें Interesting Facts

रणबीर कपूर की फिल्म संजू कमाई के मामले में बॉलीवुड की सर्वश्रेष्ठ फिल्मों में शुमार हुई. आने वाले सालों में रणबीर की कई और फिल्में भी आने वाली हैं, जिनमें वह अलग-अलग किरदार निभाते हुए दिखाई देंगे.

फिल्मों के अलावा रणबीर कपूर चैरिटी का काम भी करते हैं. फिल्मों के अलावा रणबीर को फुटबॉल खेलना भी बेहद पसंद है. वह इंडियन सुपरलीग फुटबॉल टूर्नामेंट की एक टीम मुम्बई सिटी एफसी के सहमालिक भी हैं.

रणबीर कपूर के चर्चित बयान
Statements of Ranbir Singh

– कभी-कभी मम्मी पापा की लड़ाई इतनी बढ़ जाती थी कि मैं उनके शांत होने के इंतजार में सुबह के पांच या छह बजे तक सीढ़ियों पर अपने घुटनों के बीच सिर रखकर बैठा रहता था.

– मैंने ब्लैक के सेट पर बतौर असिस्टेंट काम करते हुए मार भी खाई और गालियां भी. उस दौरान मैंने फर्श साफ करने से लेकर बल्ब फिक्स करने तक का काम भी किया. सुबह 7 बजे से शाम 4 बजे तक लगातार काम किया. लेकिन मैंने रोज कुछ नया सीखा. ब्लैक के सेट पर काम करने का मेरा सिर्फ एक ही मकसद था कि भंसाली खुद मुझे अपनी फिल्म में बतौर एक्टर लेने को मजबूर हो जाएं.

यह भी पढ़ें

दिलीप कुमार की जीवनी Dilip Kumar Biography in Hindi

गुरु दत्त की जीवनी Biograpahy of Guru Dutt

गुलजार की जीवनी Biography of Gulzar

जावेद अख्तर की जीवनी Biography of Javed Akhtar

प्रियंका चोपड़ा की जीवनी Priyanka Chopra Biography in Hindi

प्रसून जोशी की जीवनी Biograpahy of Prasoon Joshi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *