Biography of Usain Bolt in Hindi - उसैन बोल्ट की जीवनी

उसैन बोल्ट की जीवनी – Biography of Usain Bolt in Hindi

उसैन बोल्ट मानव इतिहास के अब तक के सबसे तेज दौड़ने वाले एथलीट हैं. उसैन बोल्ट ने ओलम्पिक खेलों में ट्रैक एंड फ्लीड इवेंट्स में 9 स्वर्ण पदक जीत कर जीवंत इतिहास बनाया क्योंकि अब तक कोई भी अन्य शख्स ऐसा नहीं कर सका है. उन्होंने ओलम्पिक खेलों में ट्रिपल-ट्रिपल की दुर्लभ उपलब्धि हासिल की है. बोल्ट ने 100 मी, 200 मी और 4गुणा 100 मी. रिले इवेंट में लगातार तीन ओलम्पिक खेलों बीजिंग (2008), लंदन (2012) और रियो (2016) में स्वर्ण पदक जीते. इस तरह उसैन बोल्ट ने विश्व के महानतम धावक के रूप में अपना नाम दर्ज करा लिया.

नाम उसैन सेंट लियो बोल्ट
व्यवसाय एथलीट
जन्म एवं स्थान 21 अगस्त 1986, शेरवुड कंटेंट, जमैका में
शिक्षा हाई स्कूल


उसैन बोल्ट का आरम्भिक जीवन- Early life of Usain Bolt

उसैन बोल्ट का जन्म 21 अगस्त 1986 को जमैका में हुआ. उनके माता का नाम जेनिफर बोल्ट और पिता का नाम वेलेस्ली बोल्ट है. उसैन बोल्ट के माता पिता परचून की दुकान चलाकर बड़ी मुश्किल से अपने तीन बच्चों का पालन-पोषण करते थे.

उसैन बोल्ट को प्राथमिक शिक्षा के लिए वाल्डेन्सिया प्राइमरी स्कूल भेजा गया. इसी स्कूल में बालक उसैन एक फर्राटा धावक के रूप में पहचान मिल गई और उसने यहां 10 मी. दौड़ की कई प्रतियोगिताएं जीतीं. बोल्ट यहां से विलियम निब मेमोरियल हाई स्कूल में पढ़ने चले गए, जहां उन्होंने क्रिकेट खेलना शुरू किया.

इस स्कूल के स्पोर्ट्स कोच को महसूस हुआ कि उसैन बोल्ट क्रिकेटर के बजाय एक बेहतर एथलीट बन सकते हैं. इसके बाद Usain Bolt अपने स्कूल में 200 मी. दौड़ की एक प्रतिस्पर्धा में शामिल हुए. उन्होंने यह रेस महज 22.04 सेकेंड में पूरी कर ली.

उसैन बोल्ट का करिअर- Career of Usain Bolt

उसैन बोल्ट ने एथलेटिक्स में करियर बनाने के मकसद से ओलम्पियन पाब्लो मैकनील से कोचिंग लेना शुरू किया. बोल्ट ने पहली बार 2001 में हंगरी के डेब्रेकेन में आयोजित अंतरराष्ट्रीय स्तर पर आईएएएफ वर्ल्ड यूथ चैम्पियनशिप में हिस्सा लिया. बोल्ट भले ही यहां क्वालिफायर से आगे नहीं बढ़ पाए, लेकिन उन्होंने 200 मी. की दौड़ 21.73 सेकेंड में पूरी कर ली, जो उनका तब तक का सर्वश्रेष्ठ समय था. इसके बाद उसैन ने 2002 में किंग्स्टन, जमैका में आयोजित विश्व जूनियर चैम्पियनशिप में 200 मी. की दौड़ 20.61 सेकेंड में पूरी कर जीती. वर्ष 2004 में उसैन बोल्ट ने एथेंस ओलम्पिक में हिस्सा लिया, जो उनका पहला ओलम्पिक था.

2005 में बोल्ट नए कोच ग्लेन मिल्स से जुड़े. ग्लेन ने उन्हें प्रोफेशनल बनन में मदद की. ग्लेन मिल्स के निर्देशन में उसैन बोल्ट ने 200 मी. दौड़ सिर्फ 19.99 सेकेंड में पूरी की.
उसैन बोल्ट के करिअर में 2006 का साल अच्छा नहीं बीता. उन्हें हैमस्ट्रिंग की चोट के कारण राष्ट्रमंडल खेलों से बाहर रहना पड़ा.

2007 में ओसाका, जापान में आयोजित विश्व चैम्पियनशिप में बोल्ट ने 200 मी. दौड़ में अपने करिअर का तब तक का सर्वश्रेष्ठ समय 19.96 सेकेंड का समय निकाला. लेकिन टायसन ग् ने 19.76 सेंकेड का समय निकालकर रेस जीती.

2008 के बीजिंग ओलम्पिक खेलों में उसैन बोल्ट को लोगों ने कम अनुभवी बताकर खारिज करने की कोशिश की. लेकिन उसैन बोल्ट ने अपने प्रदर्शन से आलोचकों का मुंह बंद कर दिया. बोल्ट ने 100 मी. फाइनल रेस 9.69 सेंकेंड का समय निकालकर जीती. इसके बाद उन्होंने 200 मी. फाइनल भी 19.30 सेकेंड का समय निकालकर जीता. 2008 बीजिंग ओलम्पिक में Usain Bolt ने तीसरा स्वर्ण पदक 4 गुणा 100 मी. रिले रेस में जीता. हालांकि, 9 साल बाद 2017 में इस रिले टीम के एक साथी नेस्टा कार्टर के डोपिंग का दोषी पाए जाने के बाद बोल्ट को बीजिंग का 4 गुणा 100 मी. रिले रेस का स्वर्ण पदक गंवाना पड़ा.

2011 विश्व चैम्पियनशिप दाइगू में बोल्ट को गलत शुरूआत के कारण 100 मी. फाइनल से हटा दिया गया. हालांकि 200 मी. की दौड़ उन्होंने 19.40 सेकेंड का समय निकालकर जीती. इसके बाद 4 गुणा 100 मी. रिले रेस भी उन्होंने जमैका के अपने साथियों के साथ 37.04 सेकेंड में पूरी कर जीती.

2012 ग्रीष्मकालीन ओलम्पिक में उसैन बोल्ट लगातार दो ओलम्पिक में 100 मी. और 200 मी. फर्राटा रेस जीतने वाले पहले एथलीट बने. उन्होंने 100 मी. दौड़ 9.63 सेकेंड और 200 मी. रेस 19.32 सेकेंड में जीती. इसके बाद चार गुणा सौ मीटर रिले रेस जीतकर उन्होंने डबल ट्रिपल पूरा किया.

2013 में मॉस्को में आयोजित विश्व चैम्पियनशिप में उन्होंने 9.77 सेकेंड में 100 मी. और 19.66 मी. में 200 मी. की दौड़ पूरी की. इसके अलावा उन्होंने 4 गुणा 100 मी. रिले फाइनल में भी स्वर्ण पदक जीता. इस तरह वे एथलेटिक्स की विश्व चैम्पियनशिप के 30 वर्ष के इतिहास में सबसे सफल एथलीट बने.

2014 राष्ट्रमंडल खेलों में हैमस्ट्रिंग चोट के कारण 100 मी और 200 मी. रेस में हिस्सा नहीं लिया. लेकिन उन्होंने 4 गुणा 100 मी. रिले में हिस्सा लेकर स्वर्ण जीता.

उसैन बोल्ट ने 2015 की बीजिंग विश्व चैम्पियनशिप में 100 मी., 200 मी क्रमशः 9.79 सेकेंड, 19.55 सेकेंड और और 4 गुणा 100 मी. रिले रेस अपने साथियों के साथ 37.36 सेकेंड में पूरी की.

Usain Bolt  ने 2016 के रियो ओलम्पिक में एक बार फिर तीनों प्रतिस्पर्धाओं में हिस्सा लेकर ओलम्पिक की अपनी व्यक्तिगत पदक तालिका 9 स्वर्ण पदक तक पहुंचाई. उन्होंने रियो में 100 मी. दौड़ 9.81 सेकेंड, 200 मी. दौड़ 19.78 सेकेंड और 4 गुणा 100 मी. रिले रेस 37.27 सेकेंड के समय में पूरी की.

उसैन बोल्ट को वर्ष 2017 में विश्व एथलेटिक्स चैम्पियनशिप में 100 मीटर फर्राटा रेस में 9.95 सेकेंड के साथ कांस्य पदक से ही संतोष करना पड़ा. इस रेस में जस्टिन गैटलिन ने बोल्ट से 0.03 सेकेंड कम समय लेकर स्वर्ण पदक और क्रिस्टियान कोलमैन ने बोल्ट से 0.01 सेकेंड कम समय लेकर रजत पदक जीता.

वर्ष 2017 में विश्व एथलेटिक्स चैम्पियनशिप में 4 गुणा 100 मीटर की रेस उनके एथलेटिक्स करियर की अंतिम रेस रही. इस रेस में उसैन बोल्ट हैमस्ट्रिंग की चोट के कारण बीच में ही गिर पड़े, लेकिन उन्होंने व्हील चेयर पर बैठने से इंकार कर दिया और अपनी टीम के साथियों की मदद से फिनिश लाइन पार की.

उसैन बोल्ट को मिले पुरस्कार एवं उपलब्धियां- Awards and achievements 

  • बोल्ट ने पहला पुरस्कार वर्ष 2001 में एक स्कूल लेवल चैम्पियनशिप में रजत पदक के रूप में जीता.
  • वर्ष 2002 में उसैन बोल्ट विश्व जूनियर चैम्पियनशिप में स्वर्ण पदक जीतने वाले सबसे कम उम्र के एथलीट बने.
  • बोल्ट ने ओलम्पिक में अपना पहला गोल्ड मैडल 2008 बीजिंग ओलम्पिक में 100 मी. फर्राटा रेस में जीता. 

उसैन बोल्ट के नाम विश्व रिकॉर्ड – World records of Usain Bolt 

Usain Bolt ने वर्ष 2009 में बर्लिन में 100 मीटर रेस 9.58 सेकेंड में पूरी की, जो एक विश्व रिकॉर्ड है. दूसरा सर्वश्रेष्ठ समय 9.63 सेकेंड का रिकार्ड भी उन्हीं के नाम है. तीसरे सर्वश्रेष्ठ समय का रिकॉर्ड उसैन बोल्ट के साथ-साथ टायसन गे और योहान ब्लेक के साथ संयुक्त रूप से है.

बोल्ट ने मैनचेस्टर में 2009 में 150 मीटर की दौड़ में अंतिम सौ मीटर की दौड़ 8.70 सेकेंड में पूरी की. उन्होंने 150 मीटर की पूरी रेस इस तरह 14.35 सेकेंड में पूरी की.
बोल्ट की अधिकतम औसत गति 41.38 किमी प्रति घंटा रही है.

उसैन बोल्ट के नाम 200 मी. का विश्व रिकार्ड भी है, जो उन्होंने बर्लिन में 19.19 सेकेंड से रेस पूरी कर बनाया.

उसैन बोल्ट के बारे में रोचक जानकारियां – Intersting Facts about Usain Bolt

उसैन बोल्ट जिंदादिल इंसान के रूप में पहचान रखते हैं और वे डांस व संगीत के शौकीन हैं.

उसैन बोल्ट ने कई बार साक्षात्कार में कहा है कि वे फर्राटा रेसर नहीं होते तो क्रिकेटर होते. वे क्रिकेट में रुचि के चलते ऑस्ट्रेलिया के बिग बैश लीग में भाग लेने वाले थे. उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के क्रिकेटर शेन वार्न को इसकी सहमति भी दे दी थी. हालांकि, बाद में उन्होंने इस टूर्नामेंट में हिस्सा नहीं लिया.

Usain Bolt को उनकी रफ्तार के कारण लाइटनिंग बोल्ट उपनाम से भी जाना जाता है. रेस जीतने के बाद वे अपने हाथों से तीर-कमान जैसी आकृति बनाकर अलग अंदाज में जश्न भी मनाते हैं. इस पोज को लाइटनिंग बोल्ट पोज या बोल्टिंग के रूप में पहचान मिली है.

2016 में Usain Bolt के एथलेटिक करिअर पर आधारित फिल्म आई एम बोल्ट आई. इस फिल्म का निर्देशन बेंजामिन टर्नर और गेब टर्नर ने किया है.

उसैन बोल्ट के कोट्स – Quotes of Usain Bolt

– जीत अंदर से आती है.
– अपने लिए लक्ष्य तय करो ताकि आप कठिन
परिश्रम कर सको. आगे बढ़ने की चाहत ही सफलता की कुंजी है.

यह भी पढ़ें:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *